Ad Code

Responsive Advertisement

जानिए Nuclear weapon (परमाणु बम) के बारे में

जानिए Nuclear weapon (परमाणु बम) के बारे में.

आपको जानकारी है आश्चर्य होगा जापान के पास अपनी कोई सेना नहीं है और वह अपनी सेना और सुरक्षा पर ज्यादा खर्च नहीं करता।


(जब जापान पर अमेरिका ने गिराया परमाणु बम)
आइए जानते हैं कि जापान के पास क्यों अपनी सेना नहीं है और जापान कि सुरक्षा कौन करता है।
बात उस समय की है जब जापान पर अमेरिका ने परमाणु हमला किया था 6 अगस्त 1945 को अमेरिका ने जापान पर परमाणु हमला कर दिया था जिसकी वजह से जापान को भारी क्षति उठानी पड़ी थी।
दरअसल अमेरिका ने अपनी जवाबी कार्रवाई में जापान पर परमाणु हमला किया था ,इसके पहले जापान ने अमेरिका के हवाई द्वीप पर सन 1942 हमला किया था, जिसमें अमेरिका के हवाई द्वीप में स्थित करीब 200 लड़ाकू जहाज 80 नौसेना के जहाज और 2 से 3000 सैनिकों को मारा था।
अमेरिका के परमाणु हमले के बाद जापान को भी काफी जनधन की हानि हुई जिसकी वजह से जापान ने हथियार डाल दिए और अमेरिका के साथ संधि कर ली जापान को यह समझ  आया कि युद्ध से किसी भी देश का कोई लाभ नहीं होता सबसे जापान ने अपनी सेना रखना स्वीकार नहीं किया। जापान के पास अपनी कोई सेना नहीं है जिससे सेना पर होने वाला खर्च हुई नहीं है। जापान की सेना और रक्षा की जिम्मेदारी अमेरिका की है। 

परमाणु बम-
  परमाणु बम- परमाणु बम एक तरह का प्रदूषण होता है इसे सिर्फ प्रदूषण नहीं कह कर हाईली रेडिएशन पॉल्यूशन कह सकते हैं, क्योंकि इनकी रेडिएशन की तीव्रता बहुत अधिक होती है जो अपने आसपास कई किलोमीटर एरिया तक अपनी नेगेटिव एनर्जी फैलाकर हवा में सम्मिलित हो जाता है जिसके कारण आसपास का वातावरण काफी जहरीला हो जाता है जोकि  शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है इस पोलूशन के संपर्क में आते ही इंसान का शरीर धीरे धीरे गलने लगता है। Is highly radiated polution का एक ही उपाय होता है वह है बोरिक एसिड जिसके द्वारा इस हाईली रेडिएटिड कोलिशन को अवशोषित किया जाता है आपको एक बात बहुत मजेदार लगेगी  प्याज मे बोरिक एसिड की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है जिसकी वजह से परमाणु रेडिएशन से बचाव के लिए बोरिक एसिड के साथ साथ प्याज की गुणवत्ता का भी  उपयोग पिया जाता है।


परमाणु हमले की बात की जाए तो अन्य देशों को अमेरिका और जापान से सीख लेनी चाहिए। जिन स्थानों पर परमाणु बम गिराया गया था उस क्षेत्र और आसपास के क्षेत्र के लोगों का जनजीवन परमाणु बम के हमले से अस्वस्थ था कई वर्षों तक आने वाली पीढ़ी विकलांग और शारीरिक रूप से अविकसित होती रही।
परंतु आज 76 वर्षों बाद शहर का जनजीवन सामान्य हो चला है। शहर को दोबारा  बसाने के लिए सरकार द्वारा बहुत मेहनत की गई। और आज अच्छा खासा विकसित शहर है यहां की जनसंख्या करीब 10 से 1200000 के आसपास है कई देशों के लिए डायरेक्ट हवाई सेवा उपलब्ध है।
इसे भी पढ़ें - हिरोशिमा नागासाकी की पूरी कहानी..

आज हर बड़े शहर की भांति हिरोशिमा मॉल यूनिवर्सिटी और आधुनिकता से युक्त एक विकसित शहर है हिरोशिमा शहर पर स्टेट म्यूजियम आज भी उस भयानक मंजर की याद दिलाते हैं।
समय के साथ जापान ने कदम से कदम मिलाकर चलना सीखा और आज अपनी टेक्नोलॉजी का लोहा सारी दुनिया को मनवाया ।और जापान विकसित देशों की सूची में आता है। चाहे वह बुलेट ट्रेन हो या इलेक्ट्रॉनिक्स जापान के उत्पाद सारे दुनिया में विख्यात हैं।
ये सब जापानी लोगो की मेहनत और लगन का ही परिणाम है जो आज जापान इस मुकाम पर पहुंचने में सफल हुआ।

इसे भी पढ़ें -




Post a Comment

0 Comments

Close Menu