Ad Code

Responsive Advertisement

प्रभु राम ही सहारा 🙏🙏

प्रभु राम ही सहारा...
कहते हैं कि यदि मन का विश्वास अगर सच्चा हो तो तो इंसान वो सब हासिल कर सकता है जो वह हासिल करना चाहता है..
ऐसी ही एक घटना जो मेरे साथ हुई आप लोगो के सामने लाने जा रहा हूं.. उम्मीद है मैं इसमें कामयाब हो पाऊंगा...
                मेरा नाम राम जी है, जी हां पर मैं अपने नाम के अनुसार बिल्कुल नहीं हूं , पर हां बनने की कोशिश जरूर करता हूं..
मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार का , अधिकतम पाने की इच्छा रखने वाला एक साधारण सा व्यक्ति हूं ,  में एक निजी आईटी कंपनी में अपने घर से 200 किलो मीटर दुर कार्यरत हूं.. और शायद खुश भी ,शायद इसलिए कि वहां सब कुछ था मगर परिवार नहीं जिसकी कमी हामेशा मुझे लगती थी,
ये उस समय की बात है जब मेरी नई नई शादी हुई थी..
हर व्यक्ति की तरह मेरा भी एक ही सपना था.. माता पिता पत्नी और बच्चों से भरा सुखी परिवार, पर सब कुछ हमारे मन के अनुसार कभी नहीं होता,,फिर शायद ईश्वर की मर्जी कुछ और ही थी.. बहुत जल्द मुझे वो नौकरी छोड़नी पड़ी..
और माता पिता के पास आना पड़ा.. खैर अच्छा हुआ परिवार का साथ मिला पर , बेरोज़गारी की नई समस्या सामने आ खड़ी हुई.. परिवार से प्यार मिलता है पर प्यार से पेट नहीं भरता , छोटा सा कस्बा होने के कारण आईटी कंपनी तो क्या कोई नौकरी मिलना मुश्किल हो गया मेरी योग्यता अनुसार.. !!
और मन में एक अलग ही बेचैनी बढ़ने लगी वो समय मेरे लिए बहुत ही कठिनाइयों भरा रहा और अब तो शादी भी हो गई थी तो दवाव और भी था...

फिर अचानक एक चमत्कार हुआ और ऐसे ही एक कंपनी  के मालिक से मेरी मुलाकात हुई और प्रभु श्री राम की कृपा से उसने मुझे अपनी कंपनी में काम करने का ऑफर दिया.. फिर क्या था.. मुझे तो जैसे सब कुछ मिल गया. ऐसा लगा स्वयं प्रभु मेरी मदद के लिए मेरे पास आए हों...

 अब मैं अपने परिवार के साथ ही रहता हूं प्रभु श्री राम की कृपा से सब कुछ अच्छा चल रहा है.........
इस घटना से बहुत बड़ी सीख मुझे मिली की जिस व्यक्ति की आस्था में कोई कमी ना हो चाहे वो माता पिता की पर हो या प्रभु राम चन्द्र जी के प्रति , उसका हमेशा शुभ ही होता है. जो व्यक्ति अपने कर्त्तव्यों का पालन मर्यादित आचरण एवं अनुशासित ढंग से करते हैं... उनकी मदद स्वयं ईश्वर करते हैं...
 अभी के लिए इतना ही मिलेंगे नए विचार के साथ तब तक के लिए.. जय श्री राम...
 खुश रहिए.. और अपने माता पिता को खुश रखिए ...





Post a Comment

0 Comments

Close Menu